मेरे पास एक ऐसा कूलर है, जो शायद बहुत कम लोगों के पास होगा, या मालूम होगा

Dosto, मेरे घर में एक ऐसा कूलर है, जो इतनी गर्मी होने के बबजूद भी, इतनी कूलिंग देता है की हर आधे घंटे के बाद उसको एक बार बंद करना पड़ता है।

यह कूलर करीब 10 वर्ष पुराना होगा। और जिस रूम में यह लगा हुआ है, हमारी लगभग सारी फॅमिली एक साथ उस रूम में सोती है (क्यूंकी कोई भी इस कूलर की फ्रेश एयर मिस नहीं करना चाहता)।

इतनी ज्यादा कूलिंग की प्लग के साथ डेलि एक मेम्बर सोता है, जो आधे घंटे बाद उसको बंद कर दे और थोड़ी गर्मी लाग्ने पर फिर से चला दे।

अगर देखना हो तो अमरीक सिंह रोड पर मेरे घर पर लगा हुआ इसको देख भी सकते हैं।
ऐसा क्यूँ और कैसे है, मैं इसके नीचे वाली पोस्ट में बता रहा हूँ।

2 Likes

एक्चुअल्ली यह एक लॉन्ग बॉडी नॉर्मल साधारण कूलर था। और पिछले करीब 10-12 वर्षों से घर में अलग अलग जगह पर चलता रहा था। शायद उससे भी पुराना हो। लेकिन कोई 5 वर्ष पहले, उपर की कन्स्ट्रकशन के बाद यह एक रूम के बाहर की विंडो के बाहर इस तरह से सेट हो गया पेरमानेंटली की बहुत ही अच्छी हवा देने लग गया। आप मानते होंगे की कई बार कूलर की सेटटिंग कुछ इस तरीके से आ जाती है, की वो बाहर से फ्रेश एयर खींच पाता है, और रूम से एयर निकलने की भी, बाइ चान्स ही, सही सेटटिंग होने के कारण बहुत अच्छा एयर फलो बंता है। तो वही इसका हो गया। अप्रैल और शायद May के शुरू तक भी, हम इसको रात में लगातार चला नहीं सकते दे, इतनी कूलिंग थी।

लेकिन लास्ट इयर, किसी यार दोस्त के यहाँ एक नए ढंग के पैड लगे हुए देखे। शायद वो भी चाइनिज आइटम थी। मैंने उस कूलर का रेट पूछा तो सदाहरण कूलर से लगभग 35-40% अधिक। यानि अगर साधारण 4000/4500 के करीब था, तो वो शायद 7000 के करीब।

तो मैंने डीएवी कॉलेज के बैक साइड पता किया तो सभी फ़ैक्टरि वाले, वही राग अलापते रहे की यह पैड आपके पूराने कूलर में नहीं लग सकते और आपको नया ही लेना पड़ेगा। हरेक कस्टमर को वो यह ही बोल रहे दे।

लेकिन आपको मालूम ही है की मैं भी थोड़ा जिद्दी हूँ। आखिर मैंने पता कर लिया।
पारस राम नगर की तेजाब वाली गली के एंड में एक फ़ैक्टरि थी। जिसने शायद 1000 पता नहीं 1500 रूपीस लिए और उस पुराने कूलर को नए तरह के पैड फिट करने योग्य बना दिया। मेरे 2-3 चक्कर तो जरूर लगे। (वो भी इसलिए क्यूंकी मैंने उनके पास पूरा कूलर नहीं भेजा था, सिर्फ पल्ले भेज दिये थे, और जब उनको लेकर आया तो साइज़ में थोड़ा सा अंतर रह गया और मेरा एक चक्कर और लगा)।

उसके बाद उसने जो पैड के रेट बताए, मुझे उसमें शक लगा और मैं पैडस का साइज़ लेकर, पता करते करते अपने cremation grounds के पास एक गोडाउन में पहुँच गया। उसने मुझे लॉन्ग बॉडी कूलर के तीनों पैड (जो उसके पास बेस्ट क्वालिटी थी) 1100 रूपीस के दिये।

जिससे मैंने पल्ले बनवाए थे, वो भी इतने के ही दे रहा था, लेकिन हो सकता है की अगर मैं उससे लेते तो वो उतने ही पैसों में एक स्टेप लोअर क्वालिटी देता।

और दोस्तो, लास्ट इयर तो क्यूंकी सीज़न का एंड था, हमें ज्यादा फर्क नहीं लगा।

लेकिन इस साल, हमारे कूलर ने धूम मचा रखी है हमारी छोटी सी फॅमिली में।
एक बंदे को प्लग के साथ सोना पड़ता है, जो वो हर आधे घंटे बाद उसको बंद करता रहे, और गर्मी लाग्ने पर उस को ऑन करता रहे। हमने स्पेशल उसके साथ रेग्युलेटर भी लगवाया, फ़ैन की तरह, वॉल्यूम टाइप रेग्युलेटर। लेकिन उससे भी या तो थोड़ा सा ज्यादा रूम गरम लाग्ने लग जाता है, या किसी न किसी मेम्बर को ठंड लाग्ने लग जाती है। एक तरीके से देखा जाये तो हम ज्यादा ठंड के कारण रात भर परेशान रहते हैं।

आपको यक़ीन आए न आए, सच येही है।
बॉबी

3 Likes

बॉबी जी अच्छा लिखा है आपने कूलर के बारे में। लेकिन ये बताएं कि जो मेंबर प्लग के पास सोता है वो बेचारा तो सो नहीं पाता होगा।

2 Likes

वो बदनसीब मैं ही हूँ। :stuck_out_tongue::stuck_out_tongue::stuck_out_tongue:

लेकिन शुक्र है की भगवान ने नींद ऐसी दी है की जागा सोया सा सोता हूँ। जब मर्जी उठ जाऊँ, जब मर्जी सो जाऊँ ।

1 Like

Hahaha… Very good

2 Likes

राजेश जी, मैंने आपको (इसी वैबसाइट पर) एक पर्सनल msg भेजा है, प्लीज उसको चेक कर लीजिये।
और अगर चेक कर लिया है तो वहीं पर जबाब दे दीजिएगा, ताकि मुझे पता चल जाये की आपने चेक कर लिया है।

1 Like

हैलो बठिंडा!